Search Everything

boating ride in lake pichhola udaipur

Boating in Lake Pichhola Udaipur

boating in lake pichhola udaipur, boating in lake pichola, lake pichola boating, boating timings in lake pichola, ticket for boating in lake pichola, boating in pichola lake, boating riding in pichola

उदयपुर की पिछोला झील में बोटिंग

अगर आप झीलों की नगरी उदयपुर में जाएँ और वहाँ पिछोला झील में बोटिंग का आनंद नहीं उठायें तो आपकी उदयपुर यात्रा अधूरी रह जाएगी. पिछोला झील में बोटिंग एक प्रमुख आकर्षण है.

Ticket price for boating in lake pichola

झील में लगभग पंद्रह से बीस मिनट बोटिंग करवाई जाती है जिसके लिए दो प्रकार का टिकट है. टेन सीटर लक्जरी स्पेशल बोट के लिए 300 रूपए और थर्टी सीटर मोटर बोट के लिए 150 रूपए का टिकट है.

पिछोला झील में बोटिंग करने से मेवाड़ी स्थापत्य कला के साथ-साथ इसकी नैसर्गिक सुन्दरता की झलक भी दिखाई देती है. झील से महल, और घाटों का वो रूप देखने को मिलता है जो रूप दूसरी जगह से देखने को नहीं मिल सकता है.

Also Read - राज परिवार की छतरियाँ महासतिया आयड उदयपुर

स्थिर जल को चीरकर उसमे लहरे पैदा करते हुए जब बोट आगे बढती है तब मन रोमांच से भर उठता है. चारों तरफ पानी ही पानी बड़ा मनमोहक दृश्य पैदा करता है.

Tourist places between lake pichhola

बोटिंग के दौरान पूरी झील का एक बड़ा चक्कर लगाया जाता है. बोटिंग की शुरुआत में सिटी पैलेस (city palace) के पीछे का विहंगम दृश्य दिखाई देता है. यहाँ से सिटी पैलेस का एक अलग ही रूप दिखाई देता है.

इसके बाद में बागोर की हवेली (bagore ki haveli) और गणगौरी घाट (gangauri ghat) का सुन्दर नजारा होता है. आगे जाने पर अमराई घाट (amrai ghat) दिखाई देता है.

बाई तरफ देखने पर विश्व प्रसिद्ध लेक पैलेस होटल (lake palace hotel) दिखाई देती है. इस होटल में ठहरने का किराया लाखों रूपए प्रतिदिन के हिसाब से बताया जाता है.

Jag niwas or jag mandir palace

लेक पैलेस से आगे जाने पर प्रसिद्ध जग निवास और जग मंदिर दिखाई देते हैं. यह जगह बड़ी ऐतिहासिक है. जब शाहजहाँ ने बादशाह जहाँगीर के खिलाफ विद्रोह किया था तब मेवाड़ के महराणा कर्ण सिंह ने उन्हें शरण दी थी और शाहजहाँ को इसी जग निवास में ठहराया था.

जग निवास से फिर बोट वापस वहीं लौट आती है जहाँ से शुरुआत हुई थी. इस प्रकार लगभग पंद्रह से बीस मिनट के समय में पिछोला की यात्रा पूर्ण होती है.

About Author

Ramesh Sharma
M Pharm, MSc (Computer Science), MA (History), PGDCA, CHMS

Connect with us

Follow Us on Facebook
Follow Us on Instagram
Follow Us on Twitter

Disclaimer

इस लेख में दी गई जानकारी विभिन्न ऑनलाइन एवं ऑफलाइन स्त्रोतों से ली गई है जिनकी सटीकता एवं विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है. हमारा उद्देश्य आप तक सूचना पहुँचाना है अतः पाठक इसे महज सूचना के तहत ही लें. इसके अतिरिक्त इसके किसी भी उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता की ही रहेगी.

अगर आलेख में किसी भी तरह की स्वास्थ्य सम्बन्धी सलाह दी गई है तो वह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श जरूर लें.

आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं एवं कोई भी सूचना, तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार UdaipurJaipur.com के नहीं हैं. आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति UdaipurJaipur.com उत्तरदायी नहीं है.